• समस्‍त भूतपूर्व सैनिक एवं उनकी विधवाऍ ऑन लाईन पंजीयन हेतू क्लिक करें

  • सूबेदार

    सूबेदार मेजर वेद प्रकाश साहू (सेवानिवृत्त)

    प्रशानिक-सह-लेखा अधिकारी

    आपका स्वागत है : संचालनालय, सैनिक कल्याण, छत्तीसगढ़

    पूर्व सैनिकों (ईएसएम) और उनके परिवारों/विधवाओं/आश्रितों के पुनर्वास और कल्याण की देखभाल करने के लिए, हमारे देश के प्रत्येक राज्य और केंद्र शासित प्रदेश (यूटी) में एक राज्य सैनिक बोर्ड (आरएसबी) है, जिसका नेतृत्व राज्य स्तर पर ब्रिगेडियर/कमोडोर/एयर कमोडोर (सेवानिवृत्त) करते हैं। आरएसबी केंद्रीय सैनिक बोर्ड (केएसबी) रक्षा मंत्रालय, नई दिल्ली और संबंधित राज्य सरकारों के निर्देशों के तहत कार्य करता है। प्रत्येक आरएसबी के नियंत्रण में कई जिला सैनिक कल्याण कार्यालय कार्यरत हैं, जिनका नेतृत्व जिला सैनिक कल्याण अधिकारी (डीएसडब्ल्यूओ) करते हैं, जो नौसेना/वायु सेना से कर्नल/लेफ्टिनेंट कर्नल (सेवानिवृत्त) या समकक्ष होता है। वर्तमान में पूरे भारत में 32 सैनिक कल्याण निदेशालय (आरएसबी) और 394 जिला सैनिक बोर्ड (डीएसडब्ल्यूओ/जेडएसडब्ल्यूओ) हैं छत्तीसगढ़ के सैनिक कल्याण निदेशालय के अंतर्गत दस (10) जिला सैनिक कल्याण कार्यालय (रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर, राजनांदगांव, जशपुर, जगदलपुर, अंबिकापुर, बैकुंठपुर, कनाकर, रायगढ़) कार्यरत हैं। यह निदेशालय सशस्त्र बलों के लगभग 50,000 भूतपूर्व सैनिकों और उनके परिवारों/आश्रितों के कल्याण की देखभाल करता है। छत्तीसगढ़ में हमारे पास 38 बहादुर (शहीद), 19 वीरता पुरस्कार विजेता ईएसएम/शहीद और 29 द्वितीय विश्व युद्ध के विधवा आश्रित और सेवारत सैनिक और उनके परिवार हैं।

  • सभी ईएसएम/विधवाऍ ऑन लाईन पंजीयन हेतू क्लिक करें